कांग्रेस को अंदाजा भी नहीं था कि मायावती उनकी धज्जियाँ उड़ाने के लिए चल देंगी ये चाल !

विपक्षी एकता के नाम पर महागठबंधन का राग अलापने वाली कांग्रेस और अन्य पार्टियों को तगड़ा झटका लगा है और 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले ही विपक्ष के महागठबंधन में दरार होती दिख रही है. तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन का सपना संजोये बैठे राहुल गांधी को उस समय तगड़ा झटका लगा जब मायावती ने छत्तीसगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के नेतृत्व वाली छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस से गठबंधन कर लिया. इतना ही नही बसपा सुप्रीमों ने मध्यप्रदेश में भी अकेले ही चुनाव लड़ने का संकेत दे दिया है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बसपा सुप्रीमों मायावती: (Image Source-hindinews18)

 

अभी तक ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि छत्तीसगढ़ में बसपा कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ सकती है लेकिन मायावती के इस फैसले के बाद कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फिर गया लगता है.

मायावती ने जनता कांग्रेस (छत्तीसगढ़-जे) से किया गठबंधन

बसपा सुप्रीमों मायावती ने कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर छत्तीसगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस (छत्तीसगढ़-जे) से गठबंधन कर लिया है. ऐन वक्त पर छत्तीसगढ़ में बसपा का कांग्रेस से किनारा करना राहुल गांधी सहित पूरे महागठबंधन की बड़ी हार मानी जा रही है. इस गठबंधन से कांग्रेस का न केवल तीन राज्यों में होने जा रहे चुनावों में राजनीतिक समीकरण बिगड़ेगा बल्कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इसका खासा असर देखने को मिलेगा.

मायावती और जनता कांग्रेस प्रमुख अजीत जोगी: (Image Source-Punjab kesari)

 

बता दें कि अजीत जोगी छत्तीसगढ़ के गठन के बाद वहां के पहले कांग्रेसी मुख्यमंत्री बने थे लेकिन उसके बाद कांग्रेस से बगावत कर उन्होंने अपनी अलग पार्टी बना ली थी.

सीटों को लेकर समझौता

बसपा सुप्रीमों मायावती और अजीत जोगी के बीच हुए समझौते के अनुसार छत्तीसगढ़ विधानसभा की कुल 90 सीटों में से बसपा 35 और अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस (छत्तीसगढ़-जे) 55 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि अगर उनका गठबंधन जीतता है तो अजीत जोगी मुख्यमंत्री होंगे।

समझौते के अनुसार छत्तीसगढ़ में बसपा 35 और जनता कांग्रेस 55 सीटों पर लड़ेगी चुनाव: (Image Source-indiatoday)

 

बता दें कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में इसी साल अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं. मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा करीब 15 सालों से सत्ता मे ंकाबिज है. इन दोनों ही राज्यों में कांग्रेस पार्टी बसपा से गठबंधन की कोशिश में थी लेकिन मायावती ने अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर कांग्रेस की रही-सही उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

आपसे एक सीधा सवाल

कांग्रेस को इस गठबंधन से कितना नुकसान हो सकता है?

News Source-Punjab kesari

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *